28 जून 2011

?????????प्रश्न ...

जिंदगी का कौनसा पल तुम्हे सबसे मुश्किल लगा ???
बस वही जो सबसे सरल था ......
कौनसा पल सबसे प्यारा था ????
वो तो अभी तक आया नहीं है ....
कौनसा पल हँसी छोड़कर गया ????
जिस पल आपने किसीके होठोंको मुस्कराहट दे दी......
कौनसा पल रुलाकर गया ???
जिसमे हमारे कारण किसी को चोट पहुंची हो ..........

कौनसे पल को याद रखना चाहते हो ???
वो सारे पल जिसमे हमने गलती की और उसे सुधारना है ....
कौनसे पल को भुला देना है ????
जिसमे हमने किसीका कुछ भला किया है ...मदद की हो .....
इसका अंजाम क्या होगा ????
लोग हमारे जीते जी हमें मुर्ख कहेंगे पर फिर ....
एक भले इंसानके रूप में हमेशा याद करेंगे ......

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

विशिष्ट पोस्ट

मैं यशोमी हूँ बस यशोमी ...!!!!!

आज एक ऐसी कहानी प्रस्तुत करने जा रही हूँ जो लिखना मेरे लिए अपने आपको ही चेलेंज बन गया था । चाह कर के भी मैं एक रोमांटिक कहानी लिख नहीं पाय...