15 दिसंबर 2009

चलो एस एम् एस एक नजर ...

एक कंवारी कन्या का गीत :

हसबंड हो ऐसा ...

पर्समें जिसके पैसा हो ॥

लम्बी जिसकी हाईट हो ,

गुस्से का वो लाईट हो ...

जब सास से मेरी फाईट हो ,

तो कहे मुझसे :

माय डार्लिंग तुम ही राईट हो ....

=======================================

एस एम् एस यानी क्या ?

एस : साला

एम् : मुफ्त का

एस : सिरदर्द .....

ना करो तो लोग सोचते है की कंजूस है और करो तो लोग सोचते है खाली बैठा है कुछ कामधंधा नहीं ....

========================================================

बदला जो वक्त ,वक्तकी रफ़्तार बदल गई ,

सूरज ढला तो शाम की सूरत बदल गई

एक उम्र तक हम उनकी जरूरत बने रहे

फ़िर यूँ हुआ की उनकी जरूरत ही बदल गई ......

===================================

यु हेव क्यूट आइज़

यु हेव स्वीट वोईस

यु हेव स्मार्ट लूक्स

यु हेव स्मार्ट ब्रेन .....

............................धत्तेरीकी !!!!!!

फ़िर ग़लत नंबर पर मेसेज भेज दिया ......

5 टिप्‍पणियां:

  1. हा हा हा ..वाह आज आपका ये अंदाज भी खूब पसंद आया ...गुदगुदाने वाला ...बहुत खूब

    उत्तर देंहटाएं
  2. एक उम्र तक हम उनकी जरूरत बने रहे

    फ़िर यूँ हुआ की उनकी जरूरत ही बदल गई !!!!!!!!!!!!!!!

    उत्तर देंहटाएं

विशिष्ट पोस्ट

मैं यशोमी हूँ बस यशोमी ...!!!!!

आज एक ऐसी कहानी प्रस्तुत करने जा रही हूँ जो लिखना मेरे लिए अपने आपको ही चेलेंज बन गया था । चाह कर के भी मैं एक रोमांटिक कहानी लिख नहीं पाय...