15 फ़रवरी 2010

फिर आप याद आते रहे क्यों ???

कल रात सपनेमें फिर आपका ख्याल आया था ,

फिर हमें दिलमें अपने ख्यालोंमें आपको ही पाया था ,

क्यों ऐसा होता है कभी ,

बिछड़ने एक अरसेके बाद भी मिलते है हम ऐसे भी ....

==========================================

उड़ती गर्दने तुम्हारी तस्वीर उभारी

जिसे दौडके कुछ अंश हथेलीमें सजा लिए हमने .....

=========================================

दो बेलोंके बीच खिले एक फूलने

जिंदगी का मतलब समजा दिया ....

2 टिप्‍पणियां:

  1. दो बेलोंके बीच खिले एक फूलने

    जिंदगी का मतलब समजा दिया ...

    bahut khoob.

    उत्तर देंहटाएं

विशिष्ट पोस्ट

मैं यशोमी हूँ बस यशोमी ...!!!!!

आज एक ऐसी कहानी प्रस्तुत करने जा रही हूँ जो लिखना मेरे लिए अपने आपको ही चेलेंज बन गया था । चाह कर के भी मैं एक रोमांटिक कहानी लिख नहीं पाय...