9 नवंबर 2009

चेतावनी ......

ये कुछ मैंने पढ़ा बाँट रही हूँ :
चेतावनी शब्द हमारे पढनेमें आते है : कहाँ ? वो भी सब जानते है पर ये कुछ अनोखी चेतावनी है :
टी वी पर
ये ब्रेकिंग न्यूज़ है शायद सच भी हो ....
लोकसभाकी बेंच पर :
टी वी केमेरा चालू है ...सो जाओगे तो पकड़े जाओगे ...
पुलिस स्टेशनमें :
फरियादी ध्यान दे ..यहाँसे बहार निकलनेसे पहले अपनी जेब / पर्स जांच ले ...
मेंटल हॉस्पिटलके बहार :
--हॉस्पिटलमें डॉक्टरका युनिफोर्म पहना व्यक्ति डॉक्टर ही हो जरूरी नहीं ...
--यहाँ दाखिल होने से पहले कोई चेकिंग जरूरी नहीं , बहार निकलते वक्त आप नोर्मल है साबित करना जरूरी है ।
हार्ट हॉस्पिटल के बाहर :
प्रेमी जनों के टूटे ह्रदय यहाँ रिपेर नहीं होते है ....
सरकारी दफ्तरके बहार :
यहाँ शोर करना मना है , कर्मचारियोंकी नींदमें खलल होता है .....
इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन पर :
आप वोट सोच समज कर दे रहे हो या कुछ भी सोचे बगैर यहाँ कोई फर्क नहीं पड़ता ...
इस ब्लॉग पर:
इस पोस्टको पढनेके बाद आपका ज्ञान बढ़ता है या नहीं उसकी कोई गेरेंटी नहीं ....

1 टिप्पणी:

विशिष्ट पोस्ट

मैं यशोमी हूँ बस यशोमी ...!!!!!

आज एक ऐसी कहानी प्रस्तुत करने जा रही हूँ जो लिखना मेरे लिए अपने आपको ही चेलेंज बन गया था । चाह कर के भी मैं एक रोमांटिक कहानी लिख नहीं पाय...