18 जुलाई 2009

दीवानगी

तुम्हारी यादोंमें कुछ ऐसे खो गए थे

ये दिल दीवाना धड़कना भी भूल गया ,

दुनियाने समजा हमने दुनिया छोड़ दी

हम अपनी चितासे जब उठे तो भुत कहकर भाग गई ..........

========================================

दीवानगी क्या होती है ये तो नहीं मालूम

बस इतना ही जानते है की आयनेमें हम आपको देखते है हरदम ....

5 टिप्‍पणियां:

  1. बहोत खूब प्रितीजी....आपके सृजन को शुभकामनाए.....प्रेमहर्षल
    http://deevanapan.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  2. दीवानगी क्या होती है ये तो नहीं मालूम

    बस इतना ही जानते है की आयनेमें हम आपको देखते है हरदम ....
    sahi,yahi deeanapan,bahut khub

    उत्तर देंहटाएं
  3. दीवानगी क्या होती है ये तो नहीं मालूम

    बस इतना ही जानते है की आयनेमें हम आपको देखते है हरदम ....

    -बहुत खूब!

    उत्तर देंहटाएं
  4. ये दिल दीवाना ही दीवानगी की हद तक ले जाता है ।

    उत्तर देंहटाएं
  5. ये दिल दीवाना ही दीवानगी की हद तक ले जाता है ।

    उत्तर देंहटाएं

विशिष्ट पोस्ट

मैं यशोमी हूँ बस यशोमी ...!!!!!

आज एक ऐसी कहानी प्रस्तुत करने जा रही हूँ जो लिखना मेरे लिए अपने आपको ही चेलेंज बन गया था । चाह कर के भी मैं एक रोमांटिक कहानी लिख नहीं पाय...