3 जून 2009

अकेलापन ....

अकेलापन!!!
आज की एक उभरती हुई समस्या जो कई और शारीरिक और मनोवैज्ञानिक समस्या का कारण बन चुकी है ...
आज का बच्चा नौकरीपेशा माँ बाप के साथ होते हुए भी भावनात्मक रूप से अकेले होते है ...छोटे परिवार की मुहीम को लेकर एक बच्चेवाले परिवारका बच्चा जो किसीसे कोई बात बांटना नहीं चाहता ...वो मानसिक रूप से अकेलापन महसूस करता है जो जिंदगीमें आगे चलकर एक समस्या बन जाता है ........
आज का युवा .....वो स्वतन्त्र होने के चक्करमें ,अपनी पाली हुई महत्त्वाकांक्षा के चक्कर में घर परिवार सबसे दूर जाकर अकेला पड़ जाता है वो शारीरिक और मानसिक रूप से अकेला पाता है ...पति पत्नी अपनी करियर में इतने बिजी होते है की कभी कभी घर उनके लिए रात रहने के होटल रूम की तरह बन जाता है ...और एक ही कमरे में दो अजनबी की तरह जीवन बन जाता है ...जो मानसिक तनाव का कारण होता है और फ़िर ह्रदय की तकलीफ का भी ....ये अकेला पन और उसके परिणाम अलगाव और तलाक़ की तकलीफ में तब्दील हो जाते है ...ये अकेलापन कभी कभी जानलेवा भी साबित होता है ....
और अब बात बुजुर्ग परिवार जन की उनकी तकलीफ पर हम इतना लिख और पढ़ चुके है जिसकी कोई सीमा नहीं ....जैसे कल के ब्लॉग में बात की थी की उसकी जड़ या नींव हमने ही बनाई होती है और उस ख़ुद के खोदे हुए गढ़धे में हम ख़ुद ही गिरते है ...
ये अकेलापन बहुतायत भावनात्मक होता है ...अब सिर्फ़ अपने ही नहीं जो अगर हमें कोई हमारे विचारो से मेल खता मिलता है तो वह भी हमें अपना ही लगता है ...उसे खून के रिश्ते से न जुड़े होने के बावजूद अपने अकेले पन का साथी बना लें ....
छोटे बच्चोके साथ खेले ...
सुंदर चित्र बनाने की कोशिश करिए ...
अच्छी किताबें ले और उसे अपनी दोस्त बना ले ...जिंदगी बदल सकती है ......
कुदरत के साथ समय बिताएं ......

4 टिप्‍पणियां:

  1. बिल्कुल सही कहा आपने ..........आज अकेलापन की वजह से ही सभी तरह से सम्पन्न होने पर भी सबकुछ बेकार और मुल्यहीन लगता है ..........यह एक समस्या का रुप ले चुकी है.इसके समाधान पर अमल करना ही एक मात्र विकल्प है.

    उत्तर देंहटाएं
  2. samaj me ye ek badi samsya hai.iske prmukh biduo per aapne prkash dala tatha anya logon ko bataya iske liye thanks.

    उत्तर देंहटाएं
  3. AKELAPAN, SANUKT PARIWARO KA VIGHTAN, ROJGAR, SIKCHHA AADI KAI KARNO SE AAJ AKELEPAN KI SAMASYA BAHUT BAD GAYI HEY SAHI LIKHA AAPNE .HANYAVAD.ASHOK KHATRI BAYANA RAJASTHAN

    उत्तर देंहटाएं

विशिष्ट पोस्ट

मैं यशोमी हूँ बस यशोमी ...!!!!!

आज एक ऐसी कहानी प्रस्तुत करने जा रही हूँ जो लिखना मेरे लिए अपने आपको ही चेलेंज बन गया था । चाह कर के भी मैं एक रोमांटिक कहानी लिख नहीं पाय...