23 मई 2009

बिन तेरे क्या ?????

बिन तेरे नमक... क्या दाल ? क्या पुलाव ?

बिन तेरे चीनी.... क्या मिठाई ? क्या चाय ?

बिन तेरे पेंट..... क्या कुरता ? क्या शर्ट ?

बिन तेरे जूते..... क्या स्टोकिंग ? क्या जुराब ?

बिन तेरे मेक अप.... क्या हुस्न ? क्या शबाब ? ( ओरिजिनल कैसा होता है ?)

बिन तेरे बाल.... क्या विग ? क्या टाल ?

बिन तेरे मयूर.... क्या मेघा ? क्या नाच ?

बिन तेरे भैंस... कैसा दूध ? क्या पनीर ? क्या चीज़ ?

बिन तेरे पेट्रोल.... क्या स्कूटर ? क्या कार ?

बिन तेरे पानी.... क्या समुन्दर ? क्या कार

और जिंदगीमें मेरी ...............

बिन तेरे मुंगदाल की ढीली ढीली खिचडी , रसेदार मसालेदार आलू -बेंगन -टमाटर की खट्टी मीठी सब्जी और ताज़ी छाश ....

क्या भूख ? और क्या प्यास ...?

2 टिप्‍पणियां:

विशिष्ट पोस्ट

मैं यशोमी हूँ बस यशोमी ...!!!!!

आज एक ऐसी कहानी प्रस्तुत करने जा रही हूँ जो लिखना मेरे लिए अपने आपको ही चेलेंज बन गया था । चाह कर के भी मैं एक रोमांटिक कहानी लिख नहीं पाय...