31 जनवरी 2009

उडी बाबा ये होरर स्टोरी ...



ये एक होरर लव स्टोरी है ...

लेकिन है डरना मना है ,मैं एक भूत हूँ , अगर डर लगे तो आ गले लग जा

मैं प्रेम की दीवानी हूँ डरना मना है ।

आग और शोले से भरी जो एक अजनबी थी ,जो एक हसीना थी उसकी दर्द भरी दास्तान हूँ ...

मैंने इश्क तो कर लिया पर सनम बेवफा निकला ।

जिसका इंतजार करती रही रात भर अंखियों के झरोखोंसे ...

वह तो किसी और का दीवाना निकला ।

मैंने अपनी खून भरी मांग से उस जंगली ,जानवर , पगला कहीं का आशिक जो था कभी मेरा पति सिर्फ़ मेरा है, नहीं, था उसे आवारा ,पागल ,दीवाना बनानेकी हेराफेरी करने की ठान ली ...

उसे पूछा वो कौन थी ?

जिसे देखकर मुझे अब यूं लगता है मैंने प्यार क्यों किया ?

मेरे पास मरने के अलावा आखरी रास्ता न था ...

लेकिन अब मैंने हिम्मत करके तुम्हारे घर का दरवाजा खोला ,

मैंने तुम्हारा मर्डर कर दिया और अब हम दोनों भूत है और हम साथ साथ है ......



1 टिप्पणी:

विशिष्ट पोस्ट

मैं यशोमी हूँ बस यशोमी ...!!!!!

आज एक ऐसी कहानी प्रस्तुत करने जा रही हूँ जो लिखना मेरे लिए अपने आपको ही चेलेंज बन गया था । चाह कर के भी मैं एक रोमांटिक कहानी लिख नहीं पाय...